Uttar pradesh : उत्तर प्रदेश की राजनीति में बड़ी हलचल ता मच गई जब मंगलवार को स्वामी प्रसाद मौर्य ने अपना इस्तीफ़ा राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को सौंपा बताया जा रहा है कि जल्द ही स्वामी प्रसाद मौर्य भारतीय जनता पार्टी को छोड़कर समाजवादी पार्टी में शामिल हो सकते हैं ।

योगी सरकार पर दलित पछड़ो की उपेक्षा का लगाया आरोप

जाते जाते हैं स्वामी प्रसाद मौर्य अपने इस्तीफ़े में लेकर गए की श्रम एंव सेवायोजना व संमवय मंत्री रहकर उन्होंने विपरीत विचारधारा वाले लोगों के साथ कठिन परिस्थितियों में अपने कर्तव्य का निर्वहन किया जिससे उन्हें दलित , किसान नौजवान एवं पिछड़े वर्ग के लोगों की उपेक्षा करनी पड़ी क्योकि सरकार का रवैया इनके ख़िलाफ़ है इसके चलते मैं अपने मंत्रिमंडल से इस्तीफ़ा देता हूँ ।