MLA Salary: दिल्ली में विधानसभा अध्यक्ष रामनिवास गोयल ने बताया कि पिछली बार विधायकों की सैलरी 2011 में बढ़ाई गई थी लेकिन 11 साल बाद इतनी कम सैलरी बढ़ोतरी उपयुक्त नहीं है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में भी विधायकों को अन्य राज्यों के बराबर ही सैलरी और भत्ता मिलना चाहिए।

MLA Salary:दिल्ली में विधायकों की सैलरी में जल्द बढ़ोतरी होने वाली है। केंद्र सरकार ने विधायकों की सैलरी में बढ़ोतरी को लेकर अपनी मंजूरी दे दी है। वर्तमान में विधायकों को सभी भत्ते मिलने के बाद ₹54000 प्रतिमाह मिलते हैं। बढ़ोतरी के बाद विधायकों को ₹90000 प्रति महीने मिलने लगेंगे।

MLA Salary:विधायकों को अभी बेसिक सैलरी ₹12000 महीने मिलती है। अब बेसिक सैलरी बढ़ कर ₹20000 हो जाएगी। और भक्तों को मिलाकर सैलरी 54000 से बढ़कर 90000 हो जाएगी। दिल्ली सरकार ने यह प्रस्ताव 2015 में केंद्र को भेजा था लेकिन तब मंजूरी नहीं मिली थी। दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि केंद्र की ओर से जो प्रस्ताव आया है उसमें बहुत काट छांट हुई है।

MLA Salary:राम निवास गोयल ने आगे बताया कि विधायकों की सैलरी पिछली बार 2011 में बनी थी लेकिन 11 साल बाद इतनी कम सैलरी बढ़ोतरी उपयुक्त नहीं है और उन्होंने कहा कि दिल्ली में भी विधायकों को अन्य राज्यों के बराबर ही सैलरी और भत्ते मिलने चाहिए। बताया जा रहा है कि केंद्र की मंजूरी के बाद अब दिल्ली विधानसभा में अगले सत्र में विधायकों की सैलरी बढ़ोतरी का बिल लाया जाएगा।

अलग-अलग राज्यों में विधायकों का वेतन

1. उत्तराखंड-1.98 लाख

2. उत्तर प्रदेश- 90,000

3. बिहार- 1.30 लाख

4. गुजरात- 1,05,000

5. तेलंगाना- 2,50,000

6. आंध्र प्रदेश- 1,25,000

7. हरियाणा- 1,55,000

8. हिमाचल प्रदेश- 1.90 लाख

9. राजस्थान- 1,42,500

10. दिल्ली- 90,000

Vikash Rathore

News activist, Political commentator