Noida news in hindi : आम आदमी पार्टी ने बुधवार को सुपरटेक मामले में 25,000 घर खरीदारों को हक़ दिलाने के लिए ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी में प्रदर्शन किया व यापन सौंपा । जैसा कि ज्ञात है अभी कुछ दिन पहले NCLT ने सुपरटेक बिल्डर को दिवालिया घोषित कर दिया गया है । लेकिन आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाया है कि सुपरटेक बिल्डर को फ़ायदा पहुँचाने के उद्देश्य से अधिकारियों और नेताओं की मिलीभगत से दिवालिया घोषित किया गया है इससे फ़्लैट खरीदारों का सारा पैसा डूब जाएगा ।

आम आदमी पार्टी (Aam Admi party ) के बरिष्ठ कार्यकर्ता प्रोफ़ेसर ऐ के सिंह ने कहा कि सुपरटेक बिल्डर से घर खरीदारों के हक़ के लिए हम पिछले सात सालों से लगातार लड़ाई कर रहे हैं। हमने प्रयास किया है कि बिल्डर से अथॉरिटी का बकाया पैसा भी वसूला जा सके । इसके लिए हम पिछले सात सालों से लगातार शासन – प्रशासन को लिखित और मौखिक रूप में अवगत कराते आए हैं । सुपरटेक बिल्डर कि भ्रष्टाचार की जड़ें इतनी गहरी है कि हमारे इतने आवाज़ उठाने के बाद भी आज तक उन पर कोई कार्रवाई नहीं हुई । इसके लिए उन्होने निम्न साक्ष्य सामने रखे …

1.2015 मे मुख्य कार्यपालक को सौपा ज्ञापन

ग्रेटर नोएडा के ओमीक्राँन एक में GH2 के CZAR प्रोजेक्ट में सुपरटेक बिल्डर आरके अरोरा व्दारा नियमों की खुलेआम अवेहलना करते हुए अथॉरिटी द्वारा कार्रवाई किये जाने के संबंध में मुख्य कार्यपालक अधिकारी को पत्र सौंपा था ।

2. 2019 में बकाया बसूली के लिए ज्ञापन

इसके बाद अरविंद कुमार सिंह द्वारा दूसरा ज्ञापन ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को 2019 में सौंपा गया । जिसमें सुपरटेक बिल्डर पर 725 करोड़ रुपये बकाया वसूली करने व उन अधिकारियों पर कार्रवाई करने के लिए जिन्होने जान बूझ कर वसूली का नोटिस सुपरटेक बिल्डर को नहीं भेजा दिया गया ।

3. 2019 मे दोबारा की शिकायत

प्राधिकरण का 725 करोड़ न वसूलने के संबंध में कार्रवाई करने के लिए व जिन बिल्डरों को RC जारी की गई है उन पर प्रॉपर्टी ज़ब्त करने के लिए 1 सितंबर 2019 को दोबारा शिकायत पत्र दिया गया । इस शिकायत को मुख्यमंत्री शिकायत पोर्टल पर भी दर्ज करवाया गया ।

4. 20 दिन बाद फिर की शिकायत

ऐके सिंह द्वारा चौथा पत्र फिर 20 दिन बाद मुख्य कार्यपालक अधिकारी को 725 करोड़ रुपये वसूलने व मुख्यमंत्री पोर्टल पर शिकायत करने के कोई कार्रवाई न होने के संबंध में दिया गया ।

इन सभी शिकायतों के बाद भी अथॉरिटी या प्रशासन द्वारा सुपरटेक बिल्डर के ख़िलाफ़ कोई क़दम नहीं उठाया गया क्योंकि इसमें अधिकारियों और नेताओं की साठगांठ थी जो सुपरटेक बिल्डर को बचाना चाहते है ।

Latest noida news Noida news latest hindi Noida news in hindi Amity noida news Aajtak noida news Greater noida news in hindi Noida news hindi Noida news today hindi

Ashutosh Mishra

News Activist , Political commentator and software engineer