Fbd news : फ़र्रुख़ाबाद की सफ़ाई व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए यहाँ की नगर पालिका करोड़ों रुपया ख़र्च कर रही है । बीते बरस ख़रीदे गए 50 डस्टबिन का अभी तक कुछ पता नहीं चला और 100 नए डस्टबिन मंगवाकर उन्हें फ़तेहगढ़ स्थित मैदान में रखवा दिया गया है । कूड़ा वाहनों को बार बार चक्कर न लगाने पढ़ें इस मंशा से डेढ़ करोड़ रुपये में चार हाइड्रोलिक कंपेटर और हुक लोडर और ख़रीद लिए गए । जिन्हें अभी तक चालू नहीं किया जा सका है जिसके चलते वाहनों के बारबार चक्कर लगाने और डीज़ल फूंकने के बाद भी पूरा कूड़ा उठाया नहीं जा सका ।जैविक और अजैविक कुड़े को अलग अलग करने के लिए जो रिक्शे ख़रीदे गए थे वो बिना चले ही कबाड़ हो गए ।

Farrukhabad News,farrukhabad news jni,Jni news farrukhabad,Jni news farrukhabad today,Jni news,J n i news farrukhabad,farrukhabad jni news,Fbd news,fbdnews ,fbd news today

कबड़ हो रहे यंत्र

Fbd news : स्वस्थ भारत मिशन के तहत नगर पालिका सफ़ाई के ऊपर करोड़ों रुपया ख़र्च कर रही है लेकिन इन करोड़ों रुपया ख़र्च करने का कोई फ़ायदा शहर को मिलता दिखाई नहीं दे रहा है मनमानी के चलते सारे संसाधन कवाड़ में पड़े हुए हैं उन्हें उपयोग में लाने पर किसी का कोई ध्यान नहीं है ।शहर में कुछ ऐसी गलियां है जिनमें ट्रक ट्रैक्टर ट्रॉली नहीं जा सकते इनके लिए अलग से हूपर ख़रीदे गए थे इसके अलावा डेढ़ करोड़ में तीन नए ट्रक कंपेटर भी लाए गए जिनमें एक मामूली ख़राबी होने के बाद उन्हें कबाड़ में फेक दिया गया ।

रोजना खर्च होता है 700 लीटर डीजल

Fbd news : कूड़ा फेंकने की जगह सबशहर से 13 किलोमीटर दूरी पर स्थित है जिससे वाहनों को चक्कर लगाने पड़ते हैं और जाम की समस्या से भी जूझना पड़ता है इस समस्या को ख़त्म करने के लिए 4 महीने पहले डेढ़ करोड़ की लागत से चार इलेक्ट्रॉनिक हाइड्रोलिक कंपेटर मंगाए गए थे लेकिन अभी तक इन्हें चालू करने की किसी ने ज़हमत नहीं उठायी जिसकी वजह से नगरपालिका को रोज़ 700 लीटर डीज़ल फूंकना पड़ता है इसके बावजूद भी शहर का कूड़ा साफ़ करने में नगर पालिका नाकाम रही है । इससे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है ।

Farrukhabad News,farrukhabad news jni,Jni news farrukhabad,Jni news farrukhabad today,Jni news,J n i news farrukhabad,farrukhabad jni news,Fbd news,fbdnews ,fbd news today

Ashutosh Mishra

News Activist , Political commentator and software engineer