Fbd news : कोरोना के समय जब दूसरी लहरायी तो अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी के कारण लाखों लोगों ने अपनी जान गंवा दी । इसी को ध्यान में रखते हुए सरकार ने आने वाली परेशानियों से निपटने के लिए पीकू वार्ड और Covid-19 वार्ड तैयार किए जिससे कोरोना से निपटा जा सके । इन सबकी देख रेख के लिए सरकार ने कुछ कर्मचारियों को आउटसोर्स किया जिनका आज अनुबंध समाप्त हो रहा है । इन हालातों में कोई काम करने वाला नहीं बचेगा और इन सभी जगाएं पर ताले पढ़ने की संभावना है ।

Farrukhabad News,farrukhabad news jni,Jni news farrukhabad,Jni news farrukhabad today,Jni news,J n i news farrukhabad,farrukhabad jni news,Fbd news,fbdnews ,fbd news today

171 कर्मचारियों की तैनाती

Fbd news : सरकार द्वारा आउटसोर्सिंग करके डॉक्टर , स्टाफ़ नर्स ,वार्ड वाँय स्वीपर , टैक्नीशियन और कार्यदायी संस्थाओं के माध्यम से 171 लोगों की तैनाती करवाई गई । बाद मे इन्हीं कर्मचारियों को ऑक्सीजन प्लांट कैसे चलाया जाए इसकी ट्रेनिंग भी दी गई । लेकिन तीसरी लहर में इतना जादा जानमाल का नुक़सान नहीं हुआ जिसके चलते हैं इन सभी तामझाम की कोई ज़रूरत नहीं पड़ी ।अब कार्यदायी संस्थाओं का 31 मार्च को CMO कार्यालय से अनुबंध ख़त्म हो रहा है ।

डॉक्टर राम मनोहर लोहिया अस्पताल में पीकू वार्ड और कोरोना वार्ड बनाए गए हैं । यहाँ 500 LLP ऑक्सीजन क्षमता का प्लांट भी लगाया गया है इसके अलावा यहाँ RTPCR लैब भी बनायी गई है ।CHC फ़तेहगढ़ , बरौन , कायमगंज राजेपुर मोहम्मदाबाद में भी ऑक्सीजन के प्लांट लगायी गई है ।वहीं CHC कायमगंज में ऑक्सीजन की व्यवस्था का कंसट्रेटर और सिलेंडरों के माध्यम से की गई है ।

Farrukhabad News,farrukhabad news jni,Jni news farrukhabad,Jni news farrukhabad today,Jni news,J n i news farrukhabad,farrukhabad jni news,Fbd news,fbdnews ,fbd news today

1 अप्रैल से सेवा समाप्त

Fbd news : CM डॉक्टर सतीश चंद्रा ने कार्यदायी संस्थाओं को नोटिस जारी करके कहा है कि कोरोना के संक्रमण और जाँच उपचार में लगे कर्मचारियों का कॉन्ट्रैक्ट 31 मार्च को ख़त्म हो रहा है जिसके बाद किसी भी कर्मचारी से काम न कराया जाए और अगले नोटिस का इंतज़ार किया जाए । स्वास्थ्य विभाग द्वारा 171 कर्मचारियों को आउटसोर्स किया गया था । इस संबंध में स्वास्थ्य निदेशालय से आगे के निर्देश माँगे गए हैं इससे यह तय होगा कि इन कर्मचारियों से आगे काम लेना है कि नहीं लेना है लेकिन गुरुवार सुबह तक कोई निर्देश प्राप्त नहीं हुए हैं ।

Ashutosh Mishra

News Activist , Political commentator and software engineer