Farrukhabad news मामला कायमगंज के स्थानीय जामा मस्जिद को लेकर शुरू हुए प्रचार ने एक ट्वीट के बाद रविवार रात तूल पकड़ लिया। इसके बाद पुलिस व प्रशासन सतर्क हो गए। रात को ही मामले की जांच की गई तो पता चला कि जामा मस्जिद सरकारी भूमि पर नहीं बनी , इसके बाद ट्वीट कर धार्मिक उन्माद फैलाने वाले अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया।

Farrukhabad news सब्जी मंडी जवाहरगंज निवासी हिंदू जागरण मंच के विभागध्यक्ष प्रदीप सक्सेना ने 20 मई को पुलिस को ज्ञापन देकर ये कहा था, कि नगर की जामा मस्जिद सरकारी भूमि पर बनी है। इसे भी हटाया जाए। ज्ञापन के साथ प्रदीप ने दरोगा को खतौनी दी।

Farrukhabad news नाला खोदने के लिए रास्ते मैं आ रहे छज्जे और दुकानों पर बुलडोजर चले । Jni farrukhabad

Farrukhabad news प्रदीप ने फेसबुक पर भी खतौनी के साथ जामा मस्जिद के सरकारी भूमि पर बने होने की पोस्ट डाला था । इसी पोस्ट को ऑल इंडिया मीडिया एसोसिएशन के नाम से बने ट्विटर अकाउंट से एडीजी सहित अन्य उच्चाधिकारियों को ट्वीट कर दंगे की आशंका देख व्यक्त की गई थी ।
इसके बाद जिला प्रशासन एव पुलिस के अधिकारी सक्रिय हो गए। रात लेखपाल को बुलाकर एसडीएम व सीओ ने जांच कराई तो पता चला कि जामा मस्जिद सरकारी भूमि पर नहीं है। इसकी जानकारी प्रदीप सक्सेना दी गई। इस पर प्रदीप सक्सेना ने एसडीएम से लिखित में खेद व्यक्त कर प्रकट किया


Farrukhabad news इसके बाद एसपी के आदेश पर ही कोतवाली के दरोगा मदन लाल ने आल इंडिया मीडिया एसोसिएशन के नाम से जो ट्वीट करने वाले अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ धार्मिक उन्माद फैलाने के आरोप में उसपर मुकदमा दर्ज कराया।
एसपी अशोक कुमार मीणा ने यह बताया कि धार्मिक उन्माद फैलाने वाले के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। आरोपी का पता लगाकर उसकी गिरफ्तारी के लिए टीम को एक्शन मैं आ जाने के लिए कह दिया गया है । जामा मस्जिद सरकारी भूमि पर नहीं बनी है। यह बात जांच में स्पष्ट रूप से साबित हो चुका है। Jni farrukhabad

Farrukhabad news नाला खोदने के लिए रास्ते मैं आ रहे छज्जे और दुकानों पर बुलडोजर चले । Jni farrukhabad

Comment

You missed