Rabindranath Tagore:रविंद्रनाथ टैगोर का जन्म 7 मई सन 1861 मैं अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार हुआ था। बंगाली कैलेंडर के अनुसार रविंद्र नाथ का जन्म बोईशाक महीने के 25 वे दिन 1422 बंगाली युग में मनाया जाता है। रविंद्र नाथ के जीवन से जुड़ी कुछ ऐसी घटनाएं हैं जो व्यक्ति को विचार करने को मजबूर कर देती हैं

Rabindranath Tagore:रविंद्रनाथ टैगोर ने गीतांजलि नामक पुस्तक लिखी जो उनके जीवन की महान उपलब्धि कहलाती है इस कविता की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रशंसा की गई

Rabindranath Tagore:रविंद्रनाथ टैगोर को मुख्य तौर पर अपनी पद्य कविताओं के लिए जाना जाता है। हिंदी उपन्यास, निबंध, लघुकथाएं, नाटक और ना जाने कितने हजार गाने इनके द्वारा लिखे गए हैं।

Rabindranath Tagore:रविंद्रनाथ साहित्य मैं नोबेल पुरस्कार जीतने वाले पहले गैर यूरोपीय और पहले गीतकार थे।

Rabindranath Tagore:रविंद्रनाथ ने नोबेल पुरस्कार में मिले पैसों का इस्तेमाल एक स्कूल बनवाने के लिए क्या था। 2004 में शांति निकेतन में हुई एक चोरी में उनका नोबेल पुरस्कार पदक चोरी हो गया था स्वीडिश अकादमी ने असली पुरस्कार बदले महान जैसे ही दिखने वाले दो पुरस्कार अख़्वाएं। इनमें से एक सोने का और दूसरा कांस्य का है

Rabindranath Tagore:रविंद्रनाथ ने 1877 मैं लघु कथाओं से अपने करियर की शुरुआत की जब वह केवल 16 साल के थे। तो उन्होंने ‘भिखारिनी’ लिखी जिसका अर्थ है भिकारी महिला या भीख मांगने वाली महिला।

7 अगस्त 1941 को 80 साल की उम्र में उनका निधन हो गया था।

Vikash Rathore

News activist, Political commentator