केंद्र सरकार ने अपने हलफनामे में कहा कि भारत बायोटेक को ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने 12 मई को स्वस्थ्य बच्चों के परीक्षण की इजाजत दी है ।

नई दिल्ली. देश में 12वीं क्लास के बच्चों को टीका (Vaccine to 12th class children) लगाने का मामला दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High court) पहुंच गया है. इस मामले पर शुक्रवार को केंद्र सरकार (Central Government) ने हाईकोर्ट में दाखिल अपने हलफनामे में कहा कि भारत बायोटेक (Bharat biotech) को ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने 12 मई को स्वस्थ्य बच्चों के परीक्षण की इजाजत दी है. केंद्र सरकार ने अपने हलफनामे में यह कहा कि बच्चों को अभी वैक्सीन नहीं लगाई जा सकती ।

केंद्र सरकार ने अपने जवाब में कहा कि जब तक बच्चों पर वैक्सीन के ट्रायल पूरे नहीं हो जाते तब तक उन्हें वैक्सीन नहीं लगाई जा सकती. केंद्र सरकार ने कहा कि वैक्सीन कंपनियों के पास अभी आपातकालीन परिस्थितियों में ही वैक्सीन लगाने की इजाजत है लेकिन जब तक बच्चों पर क्लीनिकल ट्रायल पूरे नहीं हो जाते तबतक बच्चों को वैक्सीन नहीं लगाई जा सकती है ।

बता दें कि दिल्ली हाईकोर्ट में एक छात्रा ने याचिका दाखिल कर कहा था कि 12वीं क्लास में पढ़ने वाले बच्चों को वैक्सीन लगाई जाए. क्योंकि उनको कई महत्वपूर्ण परीक्षाओं में शामिल होना होता है. हाईकोर्ट ने इस याचिका पर नोटिस जारी करते हुए केन्द्र सरकार से जवाब मांगा था ।

News Source : https://hindi.news18.com/news/delhi-ncr/central-government-gave-an-affidavit-in-delhi-hc-and-said-vaccine-trial-going-on-nodssp-3610411.html