Azamgarh News

Azamgarh News In Hindi :

पलिया गांव में चल रहा धरना छठवें दिन भी जारी, गांव में मेले जैसा रहा माहौल

-कांग्रेस अनुसूचित मोर्चा के राष्ट्रीय सचिव प्रदीप नरवाल ने भी ली घटना की जानकारी

Azamgarh News In Hindi : (आजमगढ़): रौनापार थाना क्षेत्र के पलिया गांव में पुलिसिया जुल्म के खिलाफ महिलाओं का धरना छठवें दिन भी जारी रहा। धरनास्थल पर पहुंचकर राजनीतिक दलों के नेता उनका हौसला बढ़ाते रहे। कांग्रेस पार्टी के अनुसूचित विभाग के राष्ट्रीय सचिव प्रदीप नरवाल ने धरना दे रही महिलाओं से घटनाक्रम की जानकारी ली। धरनारत महिलाओं ने कहाकि बगैर जांच हमारे घर गिराए गए, तोड़फोई करने संग बदसलूकी की गई तो बगैर न्याय मिले हम पीछे नहीं हटेंगे।-azamgarh News

Also Read This : Azamgarh News : 60 क्विंटल चना कालाबारी में विपणन निरीक्षक निलंबित-Azamgarh News In Hindi (rajnititak.in)

azamgarh news in hindi azamgarh news today azamgarh news azamgarh news latest up azamgarh news azamgarh news today azamgarh news in hindi azamgarh news hindi azamgarh news latest

पासी समाज के सरोज रावत भी मौके पर डंटे रहे और न्याय मिलने तक हर संघर्ष करने का आश्वासन दिया। भीम आर्मी के स्थानीय कार्यकर्ता सोनू आर्य के नेतृत्व में धरने पर बैठे रहे।धरने को बल देने के लिए बीच-बीच में सरकार विरोधी नारे लगाते देखे गए।

धरने पर बैठीं सुनीता, मंजू, सरिता, कुलसुम, राधिका, चंपा कलावती, प्रभावती, लीलावती ने कहा कि हमारी मांगें पूरी होंगी तभी धरना समाप्त नहीं होगा।

Azamgarh News In Hindi : प्रशासन धरना समाप्त कराने के लिए तरह-तरह हथकंडे अपना रहा है। प्रदेश के मुख्यमंत्री को मौके पर आना ही होगा। हमारे साथ हुए अन्याय का फैसला उनको ही करना होगा।

azamgarh news in hindi azamgarh news today azamgarh news azamgarh news latest up azamgarh news azamgarh news today azamgarh news in hindi azamgarh news hindi azamgarh news latest

दूसरी ओर कांग्रेस के अनुसूचित जाति विभाग के राष्ट्रीय सचिव प्रदीप नरवाल ने कहा कि जुल्म करने वाले अधिकारियों के खिलाफ प्रदेश सरकार को कार्रवाई करनी ही होगी। प्रतिनिधिमंडल में कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष विश्व विजय सिंह, अमरेश गौतम, जिला अध्यक्ष प्रवीण कुमार सिंह, जिला महासचिव अजीत राय आदि शामिल थे।

News Source : https://www.jagran.com/uttar-pradesh/azamgarh-women-were-scolded-for-dharna-against-police-atrocities-21812262.html