नोएडा : नोएडा शहर के सरकारी अधिकारियों के साथ मिलकर बिल्डरों ने ग्रामीण इलाकों में भी इतनी ऊंची ऊंची मारते बनवा दी हैं जिनमें आग लगने के हालात में फायर ब्रिगेड की सहायता मिलना किसी बड़ी चुनौती से कम नहीं है। ग्रामीण इलाकों में ऐसी तंग गलियां बनने से भविष्य में आपातकाल में सहायता पहुंचना असंभव सा लगता है।

इन सभी अवैध रूप से प्लैटिंग कर खड़ी की गई इमारतों में औद्योगिक इकाइयों में काम करने वाले लोग सस्ते किराए पर रहते हैं। नोएडा के कई गांवों में बिल्डरों ने डूब क्षेत्र में अधिकारियों की मिलीभगत के सस्ते दाम में अवैध रूप से प्लाटिग कर बड़ी-बड़ी इमारतें खड़ी कर दी हैं। इनमें हरौला, बरौला, सलारपुर, सदरपुर, छिजारसी, मामूरा, चोटपुर, चौड़ा, अट्टा, झुंडपुरा, भंगेल, गढ़ी चौखंडी, बहलोलपुर, मोरना, बिशनपुरा गांव प्रमुख हैं। शादी के बिल्डर वाले जमीन को छोटे-छोटे प्लॉट में काटकर पांच – पांच मंजिल बना कर बेच भी दिया हैं, लेकिन इमारतों में फायर इमरजेंसी की कोई सुविधा नहीं है न ही उनमें आग बुझाने के उपकरण लगे हैं। इससे आग लगने की स्थिति में लोगों की जान जोखिम में रहती है।

गागढ़ी चौखंडी गांव की एक इमारत में आग लगी। इमारत गांव के ही एक व्यक्ति बताई जा रही है इमारत में आग लगने के बाद व्यक्ति फरार है बिल्डर ने लाख रुपये में प्लेट बनाकर बेच दिया, एवं सुरक्षा के नाम पर कुछ नहीं किया। फ्लैट में एक ही प्रवेश द्वार है कोई इमरजेंसी गेट नहीं है। इस वजह से आग लगने के बाद ऐसे लोगों को निकालने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी।

noida latest news hindi, noida news hindi today, noida news hindi, greater noida news hindi, noida news in hindi, greater noida news in hindi, today noida news in hindi, latest noida news in hindi, noida latest news in hindi