Farrukhabad News ( फ़र्रुख़ाबाद न्यूज ) पीडब्लूडी ठेकेदार समीम की हत्या के मामले में गवाह ने अपना बयान दर्ज करवाया गवाह ने कहा कि शमीम पर पहला फ़ायर अनुपम दुबे (anupam dubey )ने किया था । चार घंटे की लंबी बहस के बावजूद भी गवाह अपने बयान पर टिका रहा और उसने अंत में न्यायालय से अपने सुरक्षा की माँग की । कहा कि वो मुझे सुरक्षा दी जाए जिस पर न्यायालय ने कार्रवाई करते हुए उसे लंबे समय तक पुलिस को 24 घंटे सुरक्षा की ज़िम्मेदारी दी ।
गवाह के अनुसार पहला फ़ायर अनुपम दुबे (Anupam dubey )ने दूसरा फ़ायर बालकृष्ण ने व अन्य लोगों ने उसके बाद फ़ायर किए जिससे शमीम की मौत हो गई ।

रामनिवास यादव व गुरसहायगंज के रहने वाले समीम ठेकेदार की हत्या के मामले में बसपा नेता अनुपम दुबे मैनपुरी जेल में बंद है । इस हत्या की सुनवाई न्यायाधीश चवन प्रकाश के न्यायालय में की जा रही है कोर्ट के बाहर बड़ी सुरक्षा में पुलिस बल तैनात है बसपा नेता को कड़ी सुरक्षा में मैनपुरी जेल से न्यायालय तक लाया जा रहा है । बचाव पक्ष के वकील ने लंबे समय तक गवाह से सवाल पहुँचे लेकिन गवाह अपने बयान पर टिका रहा ।


जिला प्रशासन सक्रिय अधिवक्ता सुरेश कुमार ने बताया कि गवाह ने अपनी सुरक्षा की माँग की है जिस पर कोर्ट ने आदेश देते हुए उन्हें सुरक्षा प्रदान करने के आदेश दिए हैं ।

बसपा नेता अनुपम दुबे के भाई अनुराग दुबे डब्बन पर भी कई केस चल रहे हैं । गुरुवार को धोखा धड़ी व रंगदारी माँगने के मुक़द्दमे में अनुराग दुबे को न्यायालय में पेश किया गया । सुरक्षाकर्मियों ने डब्बन की न्यायिक हिरासत बढ़ाने की माँग की जिस पर कोर्ट ने 30 अक्टूबर तक सुनवाई टाल दी । अनुराग दुबे के वक़ील का कहना है कि रंगदारी व हमले के मामले में डब्बन को ज़मानत मिल चुकी है । धोखा धड़ी के मामले में याचिका ख़ारिज की गई है जिस पर 26 अक्टूबर को सुनवाई की जाएगी ।