केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने रविवार को कहा कि लगभग सभी राज्यों के अनुरोध पर केंद्र ने कोरोना वायरस के टीकाकरण की नीति को उदार बनाया है। राज्यों को अब इसकी शिकायत की कोई वजह नहीं दिखती। उन्होंने कहा कि टीकाकरण को राज्यों, निजी अस्पतालों और उद्योगों को इसलिए अनुमति दी गई कि ‘टीम इंडिया के साझा प्रयास’ से 18 वर्ष से अधिक उम्र के सभी भारतीय का यथाशीघ्र टीकाकरण हो सके।

ट्विटर पर जारी अपने चार पन्ने के बयान में मंत्री ने 18 साल से अधिक उम्र के लोगों का एक मई से टीकाकरण करने की रणनीति का बचाव किया और उन राजनीतिक नेताओं पर हमला किया जो इस मामले को लेकर ‘वेवजह की राजनीति में शामिल हैं और मामले में गलत सूचना फैला रहे हैं।

वर्धन ने कहा कि राज्यों द्वारा अब शिकायत करने की कोई वजह नहीं नजर आती क्योंकि उन्होंने ही टीके की आपूर्ति में पाबंदियों को हटाने की मांग की थी। उन्होंने कहा कि नयी रणनीति राज्यों को केंद्र से मुफ्त टीके की आपूर्ति की गारंटी देती है, इसके साथ ही वे सीधे उत्पादकों से टीका खरीद सकते हैं और खुराक की संख्या के आधार पर कीमतों पर बातचीत कर सकते हैं।

News source

https://navbharattimes.indiatimes.com/india/the-state-wanted-to-remove-the-ban-on-the-supply-of-vaccines-now-there-is-no-reason-for-complaint-harshvardhan/amp_articleshow/82246034.cms